राष्ट्रपति श्री रामनाथ कोविन्द का कार्यकाल 24 जुलाई, 2022 को समाप्त हो रहा है। 

भारतीय संविधान के अनुसार हर 5 वर्षों में राष्ट्रपति का चुनाव वर्तमान राष्ट्रपति के कार्यकाल खत्म होने से पहले हो जाना चाहिए 

राष्ट्रपति पद के लिए शर्तों का उल्लेख संविधान के अनुच्छेद 59 में किया गया है। 

अनुच्छेद 60 के अनुसार, सर्वोच्च न्यायालय का मुख्य न्यायाधीश राष्ट्रपति पद के लिए जीता हुआ उम्मीदवार ईश्वर के नाम पर संविधान की रक्षा की शपथ दिलाता है । 

राष्ट्रपति का वेतन भारत सरकार ने 2018 मे 1.5 लाख/माह से बढ़ा कर 5 लाख/माह कर दिया है।  

भारतीय संविधान में राष्ट्रपति को ‘संविधान का उलंघन’ करने पर महाभियोग चला कर उसे पद से हटाया जा सकता है।