Russia और Ukraine के बीच युद्ध का भारत पर क्या प्रभाव पड़ेगा? । Russia Ukraine War Impact on India Economy l Trending News

Russia Ukraine War impact on India Economy : दोस्तो आज हम इस ब्लॉग के माध्यम के आपको यह बताने की कोशिश करुंगी की क्या Russia और Ukraine के बीच युद्ध से हमे चिंतित होने की जरूरत है? क्या Russia और Ukraine के बीच युद्ध का प्रभाव India पर भी पड़ेगा? Russia और Ukraine के बीच युद्ध भारत में सबसे ज्यादा किस छेत्र को प्रभावित करगा? या क्या हम थर्ड वर्ल्ड वार की ओर बढ़ रहे है। आइए हम आगे detail में चर्चा करते है:

Russia और Ukraine के बीच युद्ध की शुरुवात के साथ ही भारत की चिंता बढने का मुख्य कारण है भारत का Russia के बीच बड़े व्यापार समझौते. India और Russia के बीच राजनैतिक और व्यापारिक दोनो संबंध बहुत अच्छे रहे है। भारत Russia के साथ crude oil, Gas, Nuclear plant के साथ LNG और कई दूसरे commodity import करता है और आपको बता दूं की रक्षा क्षेत्र में भी Russia ने भारत के साथ कई समझौते किए है। आइए देखते हैं और कौन से sector पर सबसे ज्यादा प्रभाव पड़ेगा Russia Ukraine war का:

Petrol Desile के बढ़ सकते है दाम:

International market में crude Oil के दाम 100 डॉलर प्रति बैरल से बढ़कर 102 डॉलर प्रति बैरल के करीब जा पहुंचा है जो 2014 के बाद सबसे उच्चतम स्थान पर है। अगर Russia Ukraine के बीच युद्ध समय से रुका नही तो कच्चे तेल के दाम और बढ़ सकते हैं जिससे भारत की मुसीबत और बढ़ेगी।

जैसा कि Russia दुनिया के बड़े तेल उत्पादक देशों में शामिल है।Russia यूरोप को उसके कुल खपत का 35 % कच्चा तेल supply करता है. India भी Russia से कच्चा तेल खरीदता है. अब अगर ऐसे में कच्चे तेल की कीमतों में वृद्धि होने से भारत में महंगाई जबरदस्त तरीके से बढ़ सकती है. International level पर Russia पर आर्थिक प्रतिबंध भी लगाने की बात चल रही है और अगर ऐसा हुआ तो Russia से तेल और गैस की सप्लाई में कमी आएगी जिसका सीधा असर तेल और गैस के दामों पर पड़ेगा और दुनिया समेत भारत में भी महगाई तेजी से बढ़ेगी।

Russia और India के बीच व्यापारिक समझौता क्या है ?

India रूस से कच्चे तेल के अलावा, गैस, न्यूक्लियर प्लाट के साथ साथ LNG और कई दूसरे कमोडिटी import करता है. Defence sector में भी Russia भारत के बड़े साझेदारों में से एक है. रूस और भारत के बीच 31 मार्च 2021 तक 8.1 अरब डॉलर का trade था. जिसमें भारत द्वारा रूस को 2.6 अरब डॉलर का export किया जाता है तो रूस से भारत 5.48 अरब डॉलर का आयात करता है. 2025 तक दोनों देशों ने 50 अरब डॉलर का द्विपक्षीय निवेश करने का लक्ष्य रखा है तो 30 अरब डॉलर का द्विपक्षीय व्यापार का लक्ष्य रखा हुआ है.

Russia Ukraine युद्ध पर Expert की क्या राय है?

Energy Sector के जानकारों के मुताबिक, इस विवाद के चलते तेल बाजार, गैस बाजार, दुनिया के सभी अर्थव्यवस्थाओं के लिए अस्थिर वाले दिन हो सकते हैं. रूस पर प्रतिबंध लगने से संकट गहराने के साथ ही कमोडिटी के भी दाम बढ़ सकते हैं. उन्होंने कहा कि भारत के लिए चिंता की बात ये है कि भारत ने अरबों डॉलर का निवेश Russia के तेल एंव गैस के क्षेत्र में किया हुआ है.

अगर हम मौजूदा स्थिति की बात करें तो अभी हम COVID के वजह से हुए नुकसान की भरपाई भी नही कर पाए और अब उसपर से Russia के Ukraine पर हमले के चलते commodity दामों में बढ़ोतरी से भारत समेत पूरी दुनिया के देशों के अर्थव्यवस्था पर संकट और गहरा सकता है. 

ये भी देखें:

मनोज बाजपेयी की ‘फैमिली मैन 3’ कब रिलीज होगी। Family Man 3 kab release hogi ? I Trending News

Leave a Comment